Manas Ke Moti - Part 3

SKU: M2013
₹260.0
Publisher: Chinmaya Prakashan
ISBN: 978-81-7597-524-8
Language: Hindi
Author: Swami Subodhananda
Binding: Paperback
Tags:
  • Bhakti,Love, Hindu Culture,Hinduism

Description of product

स्वामी सुबोधानंदजी (प्रमुख आचार्य, सांदीपनी हिमालय) के तुलसी रामायण पर किए गए ज्ञानयज्ञाें का संकलन है. ज्ञानयज्ञाें में मानस  के आध्यामिक, दर्शनिक, साहित्यिक और सामजिक पहलुओं पर विशेष विवेचना की गई है.इस द्वितीय भाग में पांच प्रसगों का निरूपण है. लक्ष्मण चरित्र, लक्ष्मण गीता (अयोद्या काण्ड), विभीषण गीता (लंका काण्ड), सती पार्वती प्रसग (बाल काण्ड) और उत्तर काण्ड)

User reviews

  0/5