Sandeepany Sadhanalaya, Saki Vihar Road, Powai, Mumbai 400072 Mumbai IN
Chinmaya Vani
Sandeepany Sadhanalaya, Saki Vihar Road, Powai, Mumbai Mumbai, IN
+912228034980 //cdn1.storehippo.com/s/5d76112ff04e0a38c1aea158/ms.settings/5256837ccc4abf1d39000001/webp/5dfcbe7b071dac2b322db8ab-480x480.png" vani@chinmayamission.com
5e0f20d4e9b7fb1976839c6c Jeevan Ek Khel (हिंदी) //cdn1.storehippo.com/s/5d76112ff04e0a38c1aea158/ms.products/5e0f20d4e9b7fb1976839c6c/images/5e17059e5f7cd8153303530b/5e17058eb5f470152d4390ed/webp/5e17058eb5f470152d4390ed.jpg

स्वामी तेजोमयानन्दजी ने बाल-विहार के बच्चों के लिए आयोजित एक प्रवचन माला में बड़े महत्वपूर्ण और मूलभूत प्रश्नों का उत्तर दिया था| 

जीवन क्या है? 

उसका उद्देश्य क्या है?

जीने के लिए कौन से नियम आवश्यक हैं?

मन को संयत कैसे करें?

स्वामीजी ने इन शंकाओं का समाधान सरल भाषा में और रोचक शैली में प्रस्तुत किया था| उन्होंने जीवन के तत्त्व को समझते हुए यह भी बताया था कि अनुप्राणित जीवन कैसे जिया जा सकता है| 

वही व्याख्यान-माला पुस्तकाकार रूप में " गेम ऑफ़ लाइफ" के नाम से प्रकाशित हुई जिसका हिंदी अनुवाद "जीवन: एक खेल" के रूप में प्रकाशित हुआ|

J2005
in stock INR 45
Chinmaya Prakashan
1 1

Jeevan Ek Khel (हिंदी)

SKU: J2005
₹45
Publisher: Chinmaya Prakashan
Language: Hindi
Author: Swami Tejomayananda
Binding: Paperback
Tags:
  • Self Development, Self Help,Motivation

Description of product

स्वामी तेजोमयानन्दजी ने बाल-विहार के बच्चों के लिए आयोजित एक प्रवचन माला में बड़े महत्वपूर्ण और मूलभूत प्रश्नों का उत्तर दिया था| 

जीवन क्या है? 

उसका उद्देश्य क्या है?

जीने के लिए कौन से नियम आवश्यक हैं?

मन को संयत कैसे करें?

स्वामीजी ने इन शंकाओं का समाधान सरल भाषा में और रोचक शैली में प्रस्तुत किया था| उन्होंने जीवन के तत्त्व को समझते हुए यह भी बताया था कि अनुप्राणित जीवन कैसे जिया जा सकता है| 

वही व्याख्यान-माला पुस्तकाकार रूप में " गेम ऑफ़ लाइफ" के नाम से प्रकाशित हुई जिसका हिंदी अनुवाद "जीवन: एक खेल" के रूप में प्रकाशित हुआ|

User reviews

  0/5