Sandeepany Sadhanalaya, Saki Vihar Road, Powai, Mumbai 400072 Mumbai IN
Chinmaya Vani
Sandeepany Sadhanalaya, Saki Vihar Road, Powai, Mumbai Mumbai, IN
+912228034980 //d2pyicwmjx3wii.cloudfront.net/s/5d76112ff04e0a38c1aea158/ms.settings/5256837ccc4abf1d39000001/webp/5dfcbe7b071dac2b322db8ab-480x480.png" vani@chinmayamission.com
978-81-7597-297-1 5e0f2050547075197c7ee835 Bhaja Govindam (हिंदी) //d2pyicwmjx3wii.cloudfront.net/s/5d76112ff04e0a38c1aea158/ms.products/5e0f2050547075197c7ee835/images/5e20203084a1312b3b421149/5e202023d6d3652b41d04acf/webp/5e202023d6d3652b41d04acf.jpg

भज-गोविन्दम देखने में भले ही छोटा ग्रन्थ लगे, परन्तु वास्तव में आदि शंकर की यह एक अत्यन्त महत्वपूर्ण रचना है| 

इसमें वेदान्त के मूल आधार की शिक्षा सरल गान में दी गई है, ताकि हृषिपुत्र बाल्यावस्था से ही अद्वैत के मधुर वातावरण में बढ़ें| इसके श्लोकों की लय इतनी मधुर है कि बच्चे भी बड़ी आसानी से याद कर सकते हैं और गा सकते हैं| 

एक बुद्धिमान युवक, अगर इसका अध्ययन सच्चाई के साथ करे, तो उसके सारे मोह नाश हो सकते हैं, और इसीलिए इसका नाम पड़ा "मोह-मुद्गर"|

B2002
in stockINR 100
Chinmaya Prakashan
1 1
Bhaja Govindam (हिंदी)

Bhaja Govindam (हिंदी)

SKU: B2002
₹100
Publisher: Chinmaya Prakashan
ISBN: 978-81-7597-297-1
Language: Hindi
Author: Swami Chinmayananda
Binding: Paperback
Tags:
  • Spirituality, Spiritual Knowledge, Philosophy, Awakening

Description of product

भज-गोविन्दम देखने में भले ही छोटा ग्रन्थ लगे, परन्तु वास्तव में आदि शंकर की यह एक अत्यन्त महत्वपूर्ण रचना है| 

इसमें वेदान्त के मूल आधार की शिक्षा सरल गान में दी गई है, ताकि हृषिपुत्र बाल्यावस्था से ही अद्वैत के मधुर वातावरण में बढ़ें| इसके श्लोकों की लय इतनी मधुर है कि बच्चे भी बड़ी आसानी से याद कर सकते हैं और गा सकते हैं| 

एक बुद्धिमान युवक, अगर इसका अध्ययन सच्चाई के साथ करे, तो उसके सारे मोह नाश हो सकते हैं, और इसीलिए इसका नाम पड़ा "मोह-मुद्गर"|

User reviews

  0/5