Sandeepany Sadhanalaya, Saki Vihar Road, Powai, Mumbai 400072 Mumbai IN
Chinmaya Vani
Sandeepany Sadhanalaya, Saki Vihar Road, Powai, Mumbai Mumbai, IN
+912228034980 //d2pyicwmjx3wii.cloudfront.net/s/5d76112ff04e0a38c1aea158/ms.settings/5256837ccc4abf1d39000001/webp/5dfcbe7b071dac2b322db8ab-480x480.png" [email protected]
978-81-7597-382-4 5e0f2054985d17192cf46a07 Shri Dakshinamoorthy Stotram (हिंदी) //d2pyicwmjx3wii.cloudfront.net/s/5d76112ff04e0a38c1aea158/ms.products/5e0f2054985d17192cf46a07/images/5e201b55ce08c92ad7e393af/5e201b4784a1312b3b41540b/webp/5e201b4784a1312b3b41540b.png

आदि शंकराचार्य के सभी स्तोत्रों में श्रीदक्षिणामूर्ति स्तोत्र सबसे छोटा है, किन्तु दार्शनिक महत्त्व में और उसकी गंभीर अभिव्यक्ति में यह अद्वैत वेदान्त का सर्वाधिक प्रेरणादायक ग्रन्थ है|

श्रीदक्षिणामूर्ति स्तोत्र के श्लोक किसी नये साधक को सम्बोधित नहीं किये गये हैं| जिसने शास्त्रों का अध्ययन पहले ही कर रखा है और अब ध्यान के आसन पर जाने वाला है, उसी के लिए इन श्लोकों की शिक्षा है|

इस स्तोत्र के दस श्लोकों में एक क्रमिक चिंतन प्रस्तुत किया गया है जिससे विचारों की एक पुष्पमालिका सी बन गई है| ये दार्शनिक पुष्प उपनिषदों के हृषी-वचनों से संग्रहित किये गये हैं|

D2007
in stock INR 90
Chinmaya Prakashan
1 1

Shri Dakshinamoorthy Stotram (हिंदी)

SKU: D2007
₹90
₹90
₹100  (10% OFF)
Publisher: Chinmaya Prakashan
ISBN: 978-81-7597-382-4
Language: Hindi
Author: Swami Chinmayananda
Binding: Paperback
Tags:
  • Spirituality, Spiritual Knowledge, Philosophy, Awakening

Description of product

आदि शंकराचार्य के सभी स्तोत्रों में श्रीदक्षिणामूर्ति स्तोत्र सबसे छोटा है, किन्तु दार्शनिक महत्त्व में और उसकी गंभीर अभिव्यक्ति में यह अद्वैत वेदान्त का सर्वाधिक प्रेरणादायक ग्रन्थ है|

श्रीदक्षिणामूर्ति स्तोत्र के श्लोक किसी नये साधक को सम्बोधित नहीं किये गये हैं| जिसने शास्त्रों का अध्ययन पहले ही कर रखा है और अब ध्यान के आसन पर जाने वाला है, उसी के लिए इन श्लोकों की शिक्षा है|

इस स्तोत्र के दस श्लोकों में एक क्रमिक चिंतन प्रस्तुत किया गया है जिससे विचारों की एक पुष्पमालिका सी बन गई है| ये दार्शनिक पुष्प उपनिषदों के हृषी-वचनों से संग्रहित किये गये हैं|

User reviews

  0/5